Google Custom Search


Custom Search

आज का विचार

आज का विचार (Thought of the Day in Hindi): (Subscribe by e-mail)

Last Modified: गुरुवार, 26 फ़रवरी 2015

आंसू और हंसी

(Khalil Gibran)
एक बार शाम के समय नील नदी के किनारे पर, एक hyena (लकड़बग्घा-एक तरह का कुत्ते जैसा जानवर) की मुलाक़ात एक crocodile(घड़ियाल) से हुई उन्होंने एक दुसरे को देखकर good-afternoon कहा|

Hyena ने बातचीत शुरू की और crocodile से पूछा, “Sir, आज आपका दिन कैसा गुजरा?”

और crocodile ने जवाब दिया, “मेरा दिन तो बड़ा ही खराब रहा| कभी-कभी तो मैं इतना उदास और दुखी हो जाता हूँ कि रोने लगता हूँ, लेकिन दुनिया हमेशा ही यही कहती है कि ‘ये तो सिर्फ घडियाली आंसूं हैं|’ और इससे मुझे कितनी तकलीफ होती है, मैं बयान नहीं कर सकता|”   

अब hyena ने जवाब दिया, “आप तो अपने दुःख और उदासी की बात कर रहे हैं, ज़रा एक पल के लिए मेरे बारे में भी तो सोचिए| मैं तो दुनिया की खूबसूरती को निहारता हूँ, इसके चमत्कारों और अजूबों को देखता हूँ, और जब मैं खुशी के मारे गाना गाने लगता हूँ, तो जंगल के लोग कहते हैं, ‘यह तो लकड़बग्घे की नकली हंसी है|’ ”

[यह article आपको कैसा लगा, कृपया comments के जरिए इस पर अपनी राय जाहिर करें]

नए लेख ई-मेल से प्राप्त करें : 


Some related links (कुछ सम्बंधित लिंक)

दूसरे लोग आपके बारे में क्या सोचेंगे ? (article)
माफ़ करना बेटा !
बाज और अबाबील(skylark)
खुशी पहले, बाकी सब बाद में  (article)
Read More Stories in Hindi  

Buy आवारा by Khalil Gibran(in hindi)

2 टिप्‍पणियां:

इस लेख पर अपनी राय जाहिर करने के लिए आपका धन्यवाद|