Google Custom Search


Custom Search

आज का विचार

आज का विचार (Thought of the Day in Hindi): (Subscribe by e-mail)

Last Modified: बुधवार, 15 जून 2016

Sarfaroshi ki Tammna - Ram Prasad 'Bismil' Poetry in Hindi

Ram Prasad 'Bismil' (Source:Wikipedia)
Ram Prasad ‘Bismil’ (Born on 11 June 1897 at Shahjahanpur) : - Freedom Fighter, patriotic poet (Hindi & Urdu), participated in Kakori conspiracy
(Article Source: Wikipedia)
(Note : Both English and Hindi Quotes/poetry are translated from Original Urdu Text)

जज्बा ए शहीद (एक शहीद का हौंसला)
A Warrior's Courage 

1.    We too could take the rest at home, We too could enjoy the pleasure of 'foam',
We too had been the sons of someone,To nourish us what they have not done.
At the time of departure from our's home, We could not say at least to them-
"In case if the tears drop in lap, Think as if your child is there."

हम भी घर पर रहकर आराम कर सकते थे, हमें भी माँ-बाप नें बड़ी मुश्किलों से पाला था,
घर छोड़ते वक्त हम उनसे यह भी नहीं कह पाए,
कि अगर कभी आखों से आंसू, गोद (lap) में टपकने लगें तो मन-बहलाने के लिए उन्हें ही अपना बच्चा समझ लेना|

2.    In our's fate was the torture since birth, We had the dole, the distress & dearth.
Who had the care and dare so dire! When we had put our step in fire.
Till farther had tried the country to sheer.

हमारी किस्मत में तो बचपन से ही जुल्म लिखा था, तकलीफें लिक्खीं थी, मेहनत लिखी थी, उदासी लिखी थी, किसको फ़िक्र थी और किस्में हिम्मत थी जब हमनें इस रास्ते पर पहला कदम रक्खा था| दूर तक वतन की याद हमें समझाने आई थी|

3.    We have no woe of self but bother, Why downfall does the country disorder.
When cometh the year of freedom in nation, Ours is the race that feels us a 'passion'.
It's "we" who are anxious to die everywhere.

हमें अपनी कोई फ़िक्र नहीं है लेकिन बार-बार यही ख्याल आता है कि अपनी जन्म-भूमि पर जाने कब तक ऐसे तूफ़ान चलते रहेंगे, वो साल कब आयेगा जब हमारे देश को आजादी मिलेगी, अपनी देशभक्ति तो रह-रह कर कम ही लगती है, हम अपनी जीवन का बलिदान देने के लिए हमेशा बेसब्र रहते हैं|  

4.     O Youths! in case if it clicks to you, Remember "us" ever for a while in view.
Whether your body be cut into pieces, And your mother be drench in distress,
Yet your faces be "fresh" with flair.

नौजवानों! अगर तुम्हें ऐसा करने की इच्छा हो, तो हमें भी भूले-भटके कभी याद कर लेना, चाहे तुम्हारे शरीरों के टुकड़े-टुकड़े ही क्यों न कर दिए जाएं, और तुम्हारी हालत देख कर तुम्हारी मां का कलेजा ही क्यों न फट पड़े, कसम खाओ कि तुम्हारे माथे पर कभी शिकन तक नहीं आएगी|  

5.    In our veins runs the blood of a "moth", We have now taken for the Nation an oath.
So are performed customs of a "Martyr",The brothers embrace their swords altogether,
And the sisters are ready to sit on the "pyre".

हमारी नसों में तो एक परवाने का लहू बहता है, अब तो हम देश की कसमें खा कर बैठे हैं|
क्या करें एक शहीद की रस्में कुछ इस तरह से ही निभाई जाती हैं| भाई-भाई तलवारों से तलवारे टकराते हैं और बहने हमारी चिताओं पर रोने की तैयारी करती हैं!


6.     We dedicate head and sacrifice heart, To our motherland we offer every sort.
We know not where to dwell & dine, Be merry friends! we march align,
To inhibit any "solitude" somewhere.

सर फ़िदा करते हैं कुरबान जिगर करते हैं, पास जो कुछ है वो अपनी मातृभूमि की नजर करते हैं ,
अब देखें कि अपना ठौर-ठिकाना कहाँ होता है, खुश रहो अहले-वतन! हम तो सफ़र करते हैं ,
कहीं और जा कर आबाद करेंगे किसी वीराने को !

7.      O Youths! it's the proper time to face, Wear every sort of suffering for the "race".
It's nothing if you bestow for country, your blood. Take the blessings of "Mother" in a flood.
Let us see! who cometh next to share.

नौजवानो ! यही मौका है उठो खुल कर खेलो, अपने वतन के लिए जो कुछ भी झेलना पड़ा वह  सब झेलो,
देश के वास्ते सब अपनी जवानी दे दो, फिर मिलेंगी न ये माता दुआएँ ले लो ,
देखें अब कौन आता है यह कर्तव्य निभाने को ?


SARFAROSHI KI TAMANNA
सरफरोशी की तमन्ना

1.   The desire to make a Sacrifice is in our hearts
Let us see what strength there is in the arms of our executioner

सरफ़रोशी(sacrifice) की तमन्ना अब हमारे दिल में है
देखना है ज़ोर कितना बाज़ू-ए-क़ातिल(hands of killer) में है

2.   Why do you remain silent thus?
Whoever I see, is gathered quiet so...
O martyr of country, of nation, I submit myself to thee
For yet even the enemy speaks of thy courage
The desire to make a Sacrifice is in our hearts...

एक से करता नहीं क्यूँ दूसरा कुछ बातचीत,
देखता हूँ मैं जिसे वो चुप तेरी महफ़िल में है
ऐ शहीद-ए-मुल्क-ओ-मिल्लत(शहीद), मैं तेरे ऊपर निसार,
अब तेरी हिम्मत का चर्चा ग़ैर की महफ़िल में है
सरफ़रोशी की तमन्ना अब हमारे दिल में है

3.   When the time comes, we shall show thee, O heaven
For why should we tell thee now, what lurks in our hearts?
We have been dragged to service, by the hope of blood, of vengeance
Yea, by our love for nation divine, we go to the streets of the enemy
The desire to make a Sacrifice is in our hearts...

वक़्त आने पर बता देंगे तुझे, ए आसमान,
हम अभी से क्या बताएँ क्या हमारे दिल में है
खींच कर लाई है सब को क़त्ल होने की उम्मीद,
आशिक़ोँ का आज जमघट कूचा-ए-क़ातिल(streets of enemy) में है
सरफ़रोशी की तमन्ना अब हमारे दिल में है

4.   Armed does the enemy sit, ready to open fire
Ready too are we, our bosoms thrust out to him
With blood we shall play Holi, if our nation need us
The desire to make a Sacrifice is in our hearts...

है लिए हथियार दुशमन ताक में बैठा उधर,
और हम तैयार हैं सीना लिये अपना इधर.
ख़ून से खेलेंगे होली गर वतन मुश्किल में है,
सरफ़रोशी की तमन्ना अब हमारे दिल में है

5.   No sword can sever hands that have the heat of battle within,
No threat can bow heads that have risen so...
Yea, for in our insides has risen a flame,
and the desire to make a Sacrifice is in our hearts...

हाथ, जिन में हो जुनून, कटते नही तलवार से,
सर जो उठ जाते हैं वो झुकते नहीं ललकार से.
और भड़केगा जो शोला सा हमारे दिल में है,
सरफ़रोशी की तमन्ना अब हमारे दिल में है

6.   Set we out from our homes, our heads shrouded with cloth,
Taking our lives in our hands, do we march so...
In our assembly of death, life is now but a guest
The desire to make a Sacrifice is in our hearts...

हम तो घर से ही चले थे बाँधकर सर पर कफ़न,
जान हथेली पर लिये लो बढ चले हैं ये कदम.
जिन्दगी तो अपनी मेहमान मौत की महफ़िल में है,
सरफ़रोशी की तमन्ना अब हमारे दिल में है

7.   Stands the enemy in the gallows thus, asking,
Does anyone wish to bear testimony?...
With a host of storms in our heart, and with revolution in our breath,
We shall knock the enemy cold, and no one shall stop us...

यूँ खड़ा मक़्तल(place of martydom) में क़ातिल कह रहा है बार-बार,
क्या तमन्ना-ए-शहादत(desire to sacrifice) भी किसी के दिल में है?
दिल में तूफ़ानों की टोली और नसों में इन्कलाब,
होश दुश्मन के उड़ा देंगे हमें रोको न आज|
दूर रह पाए जो हमसे दम कहाँ मंज़िल में है,

8.   What is that body that does not have hot blood in it,
How can a person conquer a Typhoon while sitting in a boat near the shore.
The desire to make a Sacrifice is in our hearts,
We shall now see what strength there is in the boughs of the enemy.

जिस्म भी क्या जिस्म है जिसमें न हो ख़ून-ए-जुनून
क्या लडे तूफ़ान से जो कश्ती-ए-साहिल में (किनारे पर) है
सरफ़रोशी की तमन्ना अब हमारे दिल में है
देखना है ज़ोर कितना बाज़ू-ए-क़ातिल में है


SECRET OF LIFE
जीने का राज

1.   Ours is the talk in the field of foe, See! which stage has reached this show.
हमें ख़त्म करने का इरादा दुश्मनों के दिल में है, देखना है ये तमाशा कौन सी मंजिल में है ?

2.   O Countrymen! you learn to sacrifice, The secret of life is to cut across flow.
कौम पर कुर्बान होना सीख लो ऐ देशवासियों !  ज़िन्दगी का राज़े-मुज्मिर(असली राज) खंजरे-क़ातिल(दुश्मन के खंजर) में है !

3.   Take it to shore very soon O Sailor! The boat of our country is out of the row.
ओ ‘किश्ती(नाव) खेने वाले’ किश्ती को किनारे पर ले चल ! आज देश की किश्ती बड़ी मुश्किल में है !

4.   How be remove the dark of distress, This is now only our worry and woe.
देश के ऊपर से अब मुश्किलों का काला बादल छंट जाए, अब यही हसरत यही अरमाँ हमारे दिल में है !

5.   Hang me up for the sake of freedom, Rest is the "will" of a 'Bismil's "woe".
देश के लिए सूली पर चढ़कर कुर्बान हो जाएँ, 'बिस्मिल' अब इतनी हसरत बाकी हमारे दिल में है !


[यह article आपको कैसा लगा, कृपया comments के जरिए इस पर अपनी राय जाहिर करें]


नए लेख ई-मेल से प्राप्त करें:


Some related links (कुछ सम्बंधित लिंक)

Gautam Buddha Quotes in Hindi
सबसे खतरनाक होता है हमारे सपनों का मर जाना! - Inspirational Poetry by Paash
A.P.J. Abdul Kalam Quotes in Hindi
आज का विचार 
Read More Quotes in Hindi 

Buy from Flipkart

2 टिप्‍पणियां:

  1. इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.

    उत्तर देंहटाएं
  2. काश आज के नेता इन सबके बलिदान की क़द्र कर सकते होते ... देश को कहाँ से कहाँ ला कर रख दिया इन नेताओ ने... समीर दीक्षित अविचल .. मेने लोगो की मदद के लिए एक वेबसाइट बनायीं है जिससे वो आने वाली सभी प्रतियोगी परीक्षाओ के विषय में जान सकेंगे .. अगर आप भी वहां आकर टिपण्णी करे तो मुझे अच्छा लगेगा ..www.sarkarieducation.in

    उत्तर देंहटाएं

इस लेख पर अपनी राय जाहिर करने के लिए आपका धन्यवाद|