Google Custom Search


Custom Search

आज का विचार

आज का विचार (Thought of the Day in Hindi): (Subscribe by e-mail)

Last Modified: शनिवार, 31 दिसंबर 2016

Dheerubhai Ambani motivational quotes in hindi - धीरुभाई अम्बानी के प्रसिद्द विचार

Dheerubhai Ambani (Source : flickr)

Dhirajlal Hirachand "Dhirubhai" Ambani (28 December 1932 – 6 July 2002) :- He was an Indian business tycoon, founded Reliance Industries in Bombay with his cousin. He had been figured in the The Sunday Times as top 50 businessmen in Asia, the combined fortune of the family was $60 billion, making the Ambanis the third richest family in the world, honored posthumously with the Padma Vibhushan for his contribution in  the field of Trade and Industry.

1.  Often people think opportunity is a matter of luck. I believe opportunities are all around us. Some seize it. Others stand and let it pass by.

ज्यादातर लोगों का विचार है कि अवसर मिलना किस्मत की बात होती है| मैं इस बात में यकीन करता हूँ कि हम सब अवसरों से घिरे हुए हैं| कुछ उनका फायदा उठा लेते है| दूसरे सिर्फ खड़े रहकर उनके गुजरने का इंतज़ार करते हैं|
 – धीरुभाई अम्बानी(Dheerubhai Ambani)

2.  I, as school kid, was a member of the Civil Guard, something like today’s NCC. We had to salute our officers who went round in jeeps. So I thought one day I will also ride in a jeep and somebody else will salute me.

जब मैं स्कूल में एक स्टूडेंट था तो उस वक्त मैं सिविल गार्ड का सदस्य भी था, यह कुछ-कुछ NCC की तरह का ही संस्थान था| जब हमारे अफसर जीपों में बैठकर गश्त कर रहे होते थे तो हमें उन्हें सलूट करना करना पड़ता था| तो मैं अक्सर सोचा करता था कि एक दिन मैं जीप में बैठा हूँगा और कोई और मुझे सलूट कर रहा होगा|
 –– धीरुभाई अम्बानी(Dheerubhai Ambani)

Last Modified: रविवार, 25 दिसंबर 2016

फ़कीर बन कर भी आप कैसे खुश रह सकते हैं ?


(Based on Post : “Be a Fun Broke Person” by Steve Pavlina)  

दोस्तों हम सभी के जीवन में कभी न कभी ऐसा मुकाम जरूर आता है जब हम जीवन में एक स्तर पर आकर ठहर जाते हैं| हम आगे तो बढना चाहते हैं लेकिन असफल होने का डर हमें आगे बढ़ने नहीं देता| उदाहरण के तौर पर अगर आप अपनी जॉब से खुश नहीं हैं और आप इसे छोड़ कर अपना बिज़नस करना चाहते हैं और आपने इसके फायदे और नुक्सान का भी अनुमान लगा कर उसकी तैयारी भी कर ली है लेकिन फिर भी आपको यह डर सताता है कि अगर बिज़नस नहीं चला तो क्या होगा? बिज़नस तो दूर की बात है नौकरी से भी हाथ धोना पडेगा| कंगाल होने का यह डर आपको कभी भी आगे बढ़ने नहीं देगा| 

मान लीजिए कि आपने हिम्मत करके अपना बिज़नस शुरू भी कर दिया और कुछ समय तक ठीक-ठाक चलने के बाद वह बुरी तरह से असफल हो गया| अब आप क्या करेंगे? कैसे खुद को संभालकर अपने जीवन को वापस पटरी पर लायेंगे| स्टीव पव्लीना नें इस विषय पर एक आर्टिकल लिखा है “Be a Fun Broke Person” जिस पर आधारित लेख आपके सामने हाजिर है|

अगर आपको कंगाल होने का डर सताता है तो आप चाहे जितनी भी तैयारी कर लें आप आगे बढ़ने की हिम्मत नहीं जुटा पाएंगे|

क्या ऐसा हो सकता हैं कि आप जीवन भर के लिए कंगाल होकर भी खुशी से झूमते रह सकते है? अगर आपको ऐसा सोचना भी मजाक लगता हैं तो फिर :

1.    आप समझ ही नहीं पा रहे कि जीवन में आखिर क्या मायने रखता है ?
2.   आपको लगता है कि पैसे के आते ही आपके जीवन की सभी problems चुटकी बजाते ही हल हो जायेंगी|
3.   आप एक बोरिंग किस्म के इंसान हैं|


Last Modified: मंगलवार, 20 दिसंबर 2016

Srinivas Ramanujan biography in Hindi

Srinivasa Ramanujan

श्रीनिवास रामानुजन् इयंगर (22 दिसम्बर 1887 – 26 अप्रैल 1920) एक महान भारतीय गणितज्ञ थे। इन्हें आधुनिक काल के महानतम गणित विचारकों में गिना जाता है। इन्हें गणित में कोई ख़ास ट्रेनिंग नहीं मिली लेकिन फिर भी अपनी प्रतिभा और लगन से न केवल गणित के क्षेत्र में कमाल के अविष्कार किए बल्कि भारत के नाम को दुनिया भर में रौशन कर दिया।


ये बचपन से ही बेहद प्रतिभावान थे। इन्होंने अपने आप ही गणित सीखा और अपने जीवनभर में गणित के 3,884 theorems को इकट्ठा किया। इनमें से ज्यादातर theorems सही साबित किये जा चुके हैं। इन्होंने गणित के सहज ज्ञान और algebra की अपनी समझ के बल पर बहुत से ओरिजनल और अनोखे परिणाम निकाले जिन पर आधारित रिसर्च आज तक हो रही है।


रामानुजन का जन्म 22 दिसम्बर 1887 को भारत में कोयंबटूर के ईरोड नाम के गांव में हुआ था। वह पारंपरिक ब्राह्मण परिवार में जन्मे थे। इनकी की माता का नाम कोमलताम्मल और इनके पिता का नाम श्रीनिवास अय्यंगर था। यह तीन वर्ष की आयु तक बोलना भी नहीं सीख पाए थे। जब इतनी बड़ी आयु तक जब रामानुजन ने बोलना आरंभ नहीं किया तो सबको चिंता हुई कि कहीं वे गूंगे तो नहीं हैं। बाद के वर्षों में जब उन्होंने स्कूल में एडमिशन लिया तो भी पढ़ाई में इनका कभी भी मन नहीं लगा। फिर भी रामानुजन ने दस वर्ष की उम्र में प्राइमरी परीक्षा में पूरे जिले में सबसे अधिक नंबर हासिल किये|

Last Modified: गुरुवार, 15 दिसंबर 2016

Rudyard Kipling famous quotes in hindi

Rudyard Kipling

Rudyard Kipling(रुडयार्ड किपलिंग) (Born on 30 December 1865 Bombay, Died 18 January 1936, aged 70)) : - Short-story writer, novelist, poet, journalist, children's literature, poetry, travel literature, science fiction, Famous Work : The Jungle Book, Kim, "The White Man's Burden"

1.  If you can keep your wits about you while all others are losing theirs, and blaming you. The world will be yours and everything in it, what's more, you'll be a man, my son.

अगर आप तब भी शांत रह सकें जब आपके आस-पास के सभी लोग अपना धीरज खोकर आपको दोष दे रहे हों, तो यह दुनिया और इसके अंदर की सभी चीजें तुम्हारे ही लिए हैं, और इससे बड़ी बात यह है कि मेरे बेटे तुम एक सच्चे पुरुष बनोगे|
 – रुडयार्ड किपलिंग(Rudyard Kipling)

2.   I never made a mistake in my life; at least, never one that I couldn't explain away afterwards.

मैंने अपने जीवन में कोई भी गलती नहीं की, कम से कम ऐसी तो नहीं जिसे मैं बाद में स्वीकार न कर सकूं|
– रुडयार्ड किपलिंग(Rudyard Kipling)