Google Custom Search


Custom Search

आज का विचार

आज का विचार (Thought of the Day in Hindi): (Subscribe by e-mail)

Last Modified: शुक्रवार, 27 जनवरी 2017

Swami Vivekananda inspirational quotes in hindi

(Swami Vivekanand)

Narendranath Datta (popularly known as Swami Vivekanand) (12 January 1863 - 4 July 1902) :- He was Founder of Ramakrishna Mission, graduated from Calcutta University, he had acquired a vast knowledge of different subjects, especially Western philosophy and history. He introduced Indian philosophies of Vedanta and Yoga to the Western world.

1.    You cannot believe in God until you believe in yourself.

आप भगवान पर तब तक भरोसा नहीं कर सकते जब तक आप खुद पर भरोसा नहीं करते|
– स्वामी विवेकानंद (Swami Vivekanand)

2.    Arise! Awake! and stop not until the goal is reached.

उठो जागो और तब तक मत रुको जब तक तुम अपने लक्ष्य तक नहीं पहुंच जाते|
– स्वामी विवेकानंद (Swami Vivekanand)

3.    You have to grow from the inside out. None can teach you, none can make you spiritual. There is no other teacher but your own soul.

आप का विकास अंदर से बाहर की ओर ही होता है कोई आपको कुछ सिखा नहीं सकता| आपकी अपनी आत्मा के अलावा कोई दूसरा टीचर नहीं होता|
– स्वामी विवेकानंद (Swami Vivekanand)

4.    The whole secret of existence is to have no fear. Never fear what will become of you, depend on no one.

अस्तित्व का पूरा रहस्य है डर का ख़त्म हो जाना| कभी भी इस बात से मत डरिये कि आपका क्या होगा, किसी पर भी निर्भर न रहें|
– स्वामी विवेकानंद (Swami Vivekanand)

5.    Truth can be stated in a thousand different ways, yet each one can be true.

सच को कहने के हजारों तरीके हो सकते हैं और फिर भी सच तो वही रहता है|
– स्वामी विवेकानंद (Swami Vivekanand)



6.    The more we come out and do good to others, the more our hearts will be purified, and God will be in them.

जितना हम दूसरों के साथ अच्छा करते हैं उतना ही हमारा हृदय पवित्र हो जाता है और भगवान उसमें बसता है|
– स्वामी विवेकानंद (Swami Vivekanand)

7.    We are what our thoughts have made us; so take care about what you think. Words are secondary. Thoughts live; they travel far.

हम वैसे ही होते हैं जैसे कि हमारे विचार हमें बनाते हैं; इसलिए आप क्या सोचते हैं इसका ध्यान रखें| शब्द तो बाद की बात है| विचार ज़िंदा होते हैं और वे बड़ी दूर तक जाते हैं|
– स्वामी विवेकानंद (Swami Vivekanand)

8.    Take up one idea. Make that one idea your life - think of it, dream of it, live on that idea. Let the brain, muscles, nerves, every part of your body, be full of that idea, and just leave every other idea alone. This is the way to success.

एक विचार को लें| और उस विचार को अपने जीवन का लक्ष्य बना लें, उसके बारे में सोचें, उसके सपने देखें, उस विचार को जियें| अपने दिमाग, muscles, nerves, और अपने शरीर के हर हिस्से में उस विचार को उतार लें, और दूसरे सारे विचारों को छोड़ दें| सफल होने का यही तरीका है|
– स्वामी विवेकानंद (Swami Vivekanand)

9.    That man has reached immortality who is disturbed by nothing material.

जो व्यक्ति सांसारिक चीजों से दुखी नहीं होता वह अमर है|
– स्वामी विवेकानंद (Swami Vivekanand)

10.    Our duty is to encourage every one in his struggle to live up to his own highest idea, and strive at the same time to make the ideal as near as possible to the Truth.

हमारा फर्ज है कि हम हर उस व्यक्ति की उसके जीवन-संघर्ष में आगे बढ़ने में मदद करें, और इसके साथ-साथ सच्चाई के जितना नजदीक रह पायें, रहने की कोशिश करें|
– स्वामी विवेकानंद (Swami Vivekanand)

11.    The world is the great gymnasium where we come to make ourselves strong.

संसार एक बड़े से gym के तरह है जहां पर हम हम सब खुद को मजबूत बनाने के लिए आते हैं|
– स्वामी विवेकानंद (Swami Vivekanand)

12.    Where can we go to find God if we cannot see Him in our own hearts and in every living being.

भगवान् हमें कहाँ मिलेगा अगर उसे हम अपने खुद के ह्रदय में और हरेक जीवित वस्तु में नहीं देख पाते ?
– स्वामी विवेकानंद (Swami Vivekanand)




13.    All differences in this world are of degree, and not of kind, because oneness is the secret of everything.

संसार में जो भी मतभेद है वह इस वजह से नहीं है कि हम सब अलग हैं क्योंकि एकता वह नियम है जिससे हरेक चीज जुड़ी हुई है|
– स्वामी विवेकानंद (Swami Vivekanand)

14.    If money help a man to do good to others, it is of some value; but if not, it is simply a mass of evil, and the sooner it is got rid of, the better.

अगर धन से आप दुसरे लोगों की मदद कर सकते हैं तो फिर इसका होना सार्थक है; अगर ऐसा नहीं है तो यह सिर्फ आपको बर्बाद ही करेगा और आप इससे जितना जल्दी पीछा छुड़ा लें उतना ही बेहतर रहेगा|
– स्वामी विवेकानंद (Swami Vivekanand)

15.    The moment I have realized God sitting in the temple of every human body, the moment I stand in reverence before every human being and see God in him - that moment I am free from bondage, everything that binds vanishes, and I am free.

जिस पल मैंने पाया कि भगवान् तो हर इंसानी शरीर रूपी मंदिर में बस्ता है, उसी पल से मैं हर इंसान के सामना श्रधा से खडा हो जाता हूँ और उस व्यक्ति में भगवान् को देख लेता हूँ, उस एक पल में मैं बंधन से मुक्त हो जाता हूँ, वो हरेक चीज जोकि मुझे बांधती है वह गायब हो जाती है और मैं आजाद हो जाता हूँ|
– स्वामी विवेकानंद (Swami Vivekanand)

16.    All the powers in the universe are already ours. It is we who have put our hands before our eyes and cry that it is dark.

संसार में जितनी भी शक्तियां हैं वे तो पहले ही से हमारी हैं| ये तो हम ही हैं जोकि अपने हाथों से अपनी आखों को ढककर चिल्लाने लगते हैं कि आखिर इतना अन्धेरा क्यों है|
– स्वामी विवेकानंद (Swami Vivekanand)

17.    The will is not free - it is a phenomenon bound by cause and effect - but there is something behind the will which is free.

इच्छा आजाद नहीं होती – यह तो कारण-परिणाम के नियम से बंधी होती है - लेकिन इच्छा के पीछे कुछ होता है जोकि आजाद होता है |
– स्वामी विवेकानंद (Swami Vivekanand)

18.    Never think there is anything impossible for the soul. It is the greatest heresy to think so. If there is sin, this is the only sin; to say that you are weak, or others are weak.

कभी भी यह मत सोचिये कि किसी काम को आप नहीं कर सकते हैं| ऐसा सोचना अपराध है| अगर दुनिया में कोई पाप है तो वह यही है| खुद से यह कहना कि मैं तो कमजोर हूँ या फिर दुसरे लोग कमजोर हैं|
– स्वामी विवेकानंद (Swami Vivekanand)

19.    Condemn none: if you can stretch out a helping hand, do so. If you cannot, fold your hands, bless your brothers, and let them go their own way.

कभी भी आलोचना मत कीजिये : अगर आप किसी की तरफ मदद का हाथ बढ़ा सकें तो जरूर बढाइए| और अगर ऐसा नहीं कर सकते तो अपनी हाथों को बाँध कर अपने भाइयों को शुभकामनाएं दीजिये और उन्हें उनके रास्ते पर जाने दीजिये|
– स्वामी विवेकानंद (Swami Vivekanand)

20.    Cowards only sin, brave men never, no, not even in mind.

कायर ही पाप करते हैं, बहादुर व्यक्ति कभी अपने मन में भी कोई पाप नहीं करता|
– स्वामी विवेकानंद (Swami Vivekanand)

21.    Do not be afraid of a small beginning. great things come afterwards. Be courageous. Do not try to lead your brethren, but serve them. The brutal mania for leading has sunk many a great ships in the waters of life. Take care especially of that, i.e. be unselfish even unto death, and work.

छोटी शुरुआत से कभी भी मत घबराइये| बड़ी चीजे बाद में ही आती हैं| बहादुर बनिए | अपने भाइयों के सामने नेता मत बनिए बल्कि सेवक बनिए| नेतृत्व करने के इसी नशे  की वजह से कई बड़े जहाज जीवन के समुद्र में डूब चुके हैं| इसका बात का ख़ास  ध्यान रहिये| मरते दम तक निस्वार्थ रहकर अपना काम कीजिये|
– स्वामी विवेकानंद (Swami Vivekanand)

22.    Do not figure out big plans at first, but, begin slowly, feel your ground and proceed up and up.

पहले से ही बड़ी-बड़ी प्लानिंग मत कीजिए बल्कि धीरे-धीरे शुरुआत कीजिये| अपनी जमीन को पहचानिए और फिर धीरे-धीरे आगे बढिए|
– स्वामी विवेकानंद (Swami Vivekanand)




23.    Do not wait for anybody or anything. Do whatever you can. Build your hope on none.

किसी भी व्यक्ति या चीज का इन्जार मत कीजिये| आप जो कर सकते हैं वह कीजिये| किसी से कोई भी उम्मीद मत रखिये|
– स्वामी विवेकानंद (Swami Vivekanand)

24.    Go on bravely. Do not expect success in a day or a year. Always hold on to the highest. Be steady. Avoid jealousy and selfishness. Be obedient and eternally faithful to the cause of truth, humanity, and your country, and you will move the world.

बहादुरी से आगे बढिए| एक दिन या एक ही साल में सफलता की उम्मीद मत कीजिये| हमेशा बड़ा सोचिए| स्थिर रहिये| इर्ष्या और स्वार्थ से दूर रहिये| सचाई, मानवता और अपने देश के प्रति वफादार और ईमानदार रहिये और फिर देखिये आप दुनिया को बदल देंगे|
– स्वामी विवेकानंद (Swami Vivekanand)

Youtube पर स्वामी विवेकानंद के प्रसिद्ध विचारों का विडियो देखें


[यह article आपको कैसा लगा, कृपया comments के जरिए इस पर अपनी राय जाहिर करें, अगर आपके पास कोई लेख हो जिसे आप इस ब्लॉग पर share करना चाहते हैं तो आप उसे 3kbiblog@gmail.com पर भेज कर हमारे साथ share कर सकते हैं | ]


नए लेख ई-मेल से प्राप्त करें : 


Some related links (कुछ सम्बंधित लिंक)

A.P.J. Abdul Kalam Quotes in Hindi
Albert Einstein Quotes in Hindi (Part 1)
दूसरे लोग आपके बारे में क्या सोचेंगे
आज का विचार 
Read More Quotes in Hindi 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

इस लेख पर अपनी राय जाहिर करने के लिए आपका धन्यवाद|